आम की कहानी - हम आम लोग क्यों कहे जाते हैं (आम आदमी)

यह आम सचमुच खास है। सुनहरा रूप लिए यह अपने गुणों व विभिन्न स्वादों के कारण ही फलों का राजा बनने में सफल रहा। आम के नाम से ही मुंह में पानी आने लगता है|

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

भारत में सबसे ज्यादा किस्में पाए जाने के बाद भी विशेषज्ञों का मानना है कि आम की उत्पत्ति मलय प्रायद्वीप में हुई। एक लोककथा के अनुसार भगवान हनुमान ने रावण के बगीचे से इस पेड़ के बीज लिए थे। अंग्रेजी शब्द मैंगो यानी आम भी तमिल शब्द के मैन-के या मैन-गे से ही बना है।

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

हालांकि हिंदी में आम शब्द संस्कृत के आम्र शब्द से आया। कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि आम की उत्पत्ति इंडो-बर्मा क्षेत्र में हुई। इसीलिए इस क्षेत्र के महाकाव्यों, धार्मिक कार्यो व लोककथाओं में आम का उल्लेख प्रचुरता से हुआ।

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

दुनिया के लिए एशिया का उपहार

यदि कोई आपको भारत या एशिया की महान उपलब्धियों के बारे में पूछने के लिए कहता है, तो आप आत्मविश्वास से कह सकते हैं, आम! हां, आम, अपने मूल जंगली रूप में, उत्तर-पूर्व भारत और म्यांमार (बर्मा) में असम के जंगल से आया था।

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

महाभारत व रामायण में आम का उल्लेख एक से अधिक बार हुआ है। इसीलिए आम के फल, पेड़ व पत्तियों को भारतीय संस्कृति में पवित्र स्थान प्राप्त है। इसी आम के पेड़ के नीचे अनेक धार्मिक उपाख्यान व घटनाएं हुई। राधा-कृष्ण की प्रणय लीला, शिव-पार्वती का विवाह आम के पेड़ के नीचे ही हुआ और गौतम बुद्ध विश्राम करने के लिए आम के पेड़ की छाया ही पसंद करते थे। बौद्ध मूर्तिकला व चित्रकला को देखने से पता चलता है कि आम का पेड़ इस धर्म में कितना महत्वपूर्ण स्थान लिए है।

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

सांची के स्तूप (तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व) में एक यक्षी को आमों से लदे पेड़ की एक शाखा से लिपटी दिखाया गया है। इसी प्रकार के अन्य संदर्भ भी आम से जुड़े हैं। आम के छोटे रूप अंबी का प्रयोग मोटिफ के रूप में शायद सबसे लोकप्रिय मोटिफ है। भारतीय ज्वैलरी के डिजाइन हों या कपड़े पर छपाई के साड़ी का बॉर्डर हो या पल्लू इन सभी पर अंबी की प्रचुरता व लोकप्रियता देखी जा सकती है।

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

आम का नाम कैसे मिला

यह एक दिलचस्प कहानी है नाम आम तमिल से आता है मनुष्य-के से, यह मंगा में बदल गया जिन लोगों ने इसे नाम दिया मंगा या आम पुर्तगाली थे वे लगभग 500 साल पहले महासागरों में भारत आए थे। जैसा कि वे भारत के कुछ हिस्सों में बस गए, उन्होंने आम की खोज की। वे इसके बारे में अधिक जानना चाहते थे इसलिए उन्होंने नई किस्मों के साथ प्रयोग करना शुरू कर दिया - प्रसिद्ध अल्फांसो या मलगोआ जो आज हम परोपकारी हैं, उनकी कड़ी मेहनत का नतीजा है।

और फिर उन्होंने पूरे विश्व के फल को पेश करने का फैसला किया

मराठों के पेशवे, रघुनाथ पेशवे ने 1 करोड़ आम के पेड़ को मराठा वर्चस्व के संकेत के रूप में लगाया। लोककथा यह है कि यह इन पेड़ों से फल था जो अंततः प्रसिद्ध अल्फांसो, आमों के राजा में बदल गया।

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

हिन्दू धर्म के धार्मिक व मांगलिक कार्यो में आम की पत्तियों व लकड़ी को पवित्र व शुद्ध माना जाने के कारण इनका प्रयोग आवश्यक माना गया है। पीतल, तांबे या मिट्टी के कलश के चारों ओर सजी हुई आम की पत्तियां किसी भी शुभ कार्य के अवसर पर होना सामान्य है।

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

ऐसे कलश प्रवेश द्वारों पर भी सजाए जाते हैं। आम की पत्तियों से बनी बन्दनवार भी मांगलिक व शुभकार्य का द्योतक है। हवन या यज्ञ में आम की लकड़ी का प्रयोग शुभ माना जाता है, शायद इसकी वजह इस लकड़ी का आसानी से जलना है। आम के फूलों को देवी सरस्वती की पूजा-अर्चना के लिए विशेष रूप से प्रयोग किया जाता है।

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

सिकन्दर से लेकर चीनी यात्री ह्वेन सांग तक इसके स्वाद के गुलाम हो गए। मुगल बादशाहों को यह फल बेहद प्रिय था। भाग्यवश इस फल की इतनी अधिक पैदाइश थी कि मुगलों के जमाने में हर विशेष चीज को अन्य चीजों से अलग रखने के लिए दो शब्दों का प्रयोग किया गया- आम और खास। आम शब्द का अर्थ आज भी सामान्य समझा जाता है। मुगलबादशाहों के महलों में लगभग हर चीज या तो आम होती थी या फिर खास जैसे दीवान-ए-आम व दीवान-ए-खास, महफिल एक आम व महफिल एक खास, जनता-ए-आम व जनता-ए-खास आदि।

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

मुगल बादशाहों द्वारा इस प्रिय फल का प्रयोग वर्ष भर किया जाता था। वे कच्चे आमों को घी या शहद में भिगोकर रखते थे और पक जाने पर उनका आनंद लेते थे। कहते हैं कि दरभंगा (बिहार) में लाखी बाग में आज भी ऐसे आम के पेड़ हैं जिन्हें मुगल बादशाह अकबर ने लगाया था।

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

1838 में मजागांव नामक आम का पेड़ इतना प्रसिद्ध व कीमती माना गया कि सुरक्षा के लिए सैनिक तैनात किए गये। मुगल बादशाह शाहजहां को बुरहानपुर के बादशाह पसंद नामक आम के पेड़ के फल बेहद पसंद थे। इस पेड़ के कारण शाहजहां व उसके पुत्र औरंगजेब के बीच संबंध बिगड़ गए थे।

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

कहते हैं कि शाहजहां ने दक्षिण भारत स्थित औरगंजेब से इस पेड़ के आमों को दिल्ली भेजने का काम सौंपा। औरंगजेब ने पेड़ की सुरक्षा व देखभाल के लिए कई आदमी लगाए पर प्रकृति के प्रकोप के कारण पेड़ की सारी फसल नष्ट हो गई। बहुत ही कम आम दिल्ली भेजे जा सके।

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

शाहजहां ने परिस्थितियों को अनदेखा करते हुए पुत्र पर आमों को खुद हजम कर जाने का शक किया और फल व पेड़ की सुरक्षा के लिए अपने आदमी भेजे।

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

हरियाणा में बुरैल नामक स्थान पर एक आम का पेड़ आज भी मिसाल बना हुआ है। इसका तना 32 फुट मोटा, इसकी शाखाएं 80 फुट लंबी तथा 12 फुट मोटी हैं। 2,700 वर्ग यार्ड में फैले इस आम के पेड़ पर कभी-कभी ढाई किलो वजन वाला आम भी पैदा होता है। अंग्रेजों को भी इसके स्वाद ने अपना गुलाम बनाया। रॉर्बट क्लाइव के बेटे एडवर्ड क्लाइव ने 1798 में मद्रास में एक बहुत बड़ा आम का बगीचा लगवाया था जिसमें आम की अनेक किस्मों के पेड़ थे।

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

एडवर्ड की तरह-तरह के स्वाद वाले आम खाने का बेहद शौक था। भारत से आम की किस्मों को अन्य पश्चिमी देशों में फैलाने का श्रेय भी अंग्रेजों को दिया जा सकता है। एशिया से आम ब्राजील व कैरेबियन पहुंचा 18 वीं सदी में, स्पेन से मैक्सिको पहुंचा 1750 में और वहां से पहुंचा अमेरिका के फ्लोरिडा में। आज विश्व के करीब 60 से से भी ज्यादा देशों में आम की पैदावार होती है। इस मीठे रसीले फल ने अपने स्वाद, गुण खुशबू से जिस कदर दुनिया को अपने वश में किया है, उसके बल पर कहा जा सकता है कि आम ‘आम’ कतई नहीं है, बल्कि है कुछ ‘खास’।

Buy Mango Plants | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers


Buy ready to use nutrient rich soil:

Buy nutrient rich soil | Buy Fertilizers >>

In general use a soil-based compost placed over a generous layer of drainage material such as earthenware crocks, pebbles or gravel. Water and feed regularly, especially while plants are bearing flowers and fruit, when a high-potash fertilizer is recommended.


Buy Decorative Pebbles :

Decorate planters or garden landscapes with these decorative pebbles :

View Details | Buy Decorative Pebbles >>

Using pebbles in a garden brings different colours and textures to the garden. Pebbles can also fill up otherwise empty space in the garden, leaving a visual that might be considered more interesting and aesthetic than simple dirt, soil or mulch.

Buy planters online >>

Add a splash of beauty to balconies, patios, walls, fences & window sills with durable,light weight, Rotomolded planters.