कैसे हुआ नारियल का जन्म और क्यों महिलायें नहीं फोड़्ती नारियल?

हिन्दू धर्म में नारियल का विशेष महत्तव है। नारियल के बिना कोई भी धार्मिक कार्यक्रम संपन्न नहीं होता है। नारियल से जुडी एक पौराणिक कथा भी प्रचलित है जो जिसके अनुसार नारियल का इस धरती पर अवतरण ऋषि विश्वामित्र द्वारा किया गया था। आज हम आपको नारियल के जन्म से जुडी यही कहानी बता रहे है।

Buy Coconut Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

यह कहानी प्राचीन काल के एक राजा सत्यव्रत से जुड़ी है। वे चाहते थे की वे किसी भी प्रकार से पृथ्वीलोक से स्वर्गलोक जा सकें। स्वर्गलोक की सुंदरता उन्हें अपनी ओर आकर्षित करती थी, किंतु वहां कैसे जाना है, यह सत्यव्रत नहीं जानते थे। एक बार ऋषि विश्वामित्र तपस्या करने के लिए अपने घर से काफी दूर निकल गए थे और लम्बे समय से वापस नहीं आए थे।

उनकी अनुपस्थिति में क्षेत्र में सूखा पड़ा गया और उनका परिवार भूखा-प्यासा भटक रहा था। तब राजा सत्यव्रत ने उनके परिवार की सहायता की और उनकी देख-रेख की जिम्मेदारी ली।

Buy Coconut Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

जब ऋषि विश्वामित्र वापस लौटे तो उन्हें परिवार वालों ने राजा की अच्छाई बताई। वे राजा से मिलने उनके दरबार पहुंचे और उनका धन्यवाद किया। शुक्रिया के रूप में राजा ने ऋषि विश्वामित्र द्वारा उन्हें एक वर देने के लिए निवेदन किया। ऋषि विश्वामित्र ने भी उन्हें आज्ञा दी।

तब राजा बोले की वो स्वर्गलोक जाना चाहते हैं, तो क्या ऋषि विश्वामित्र अपनी शक्तियों का सहारा लेकर उनके लिए स्वर्ग जाने का मार्ग बना सकते हैं? अपने परिवार की सहायता का उपकार मानते हुए ऋषि विश्वामित्र ने जल्द ही एक ऐसा मार्ग तैयार किया जो सीधा स्वर्गलोक को जाता था।

Buy Coconut Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

राजा सत्यव्रत खुश हो गए और उस मार्ग पर चलते हुए जैसे ही स्वर्गलोक के पास पहुंचे ही थे, कि स्वर्गलोक के देवता इन्द्र ने उन्हें नीचे की ओर धकेल दिया। धरती पर गिरते ही राजा ऋषि विश्वामित्र के पास पहुंचे और रोते हुए सारी घटना का वर्णन करने लगे।

देवताओं के इस प्रकार के व्यवहार से ऋषि विश्वामित्र भी क्रोधित हो गए, परन्तु अंत में स्वर्गलोक के देवताओं से वार्तालाप करके आपसी सहमति से एक हल निकाला गया। इसके मुताबिक राजा सत्यव्रत के लिए अलग से एक स्वर्गलोक का निर्माण करने का आदेश दिया गया |

Buy Coconut Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

ये नया स्वर्गलोक पृथ्वी एवं असली स्वर्गलोक के मध्य में स्थित होगा, ताकि ना ही राजा को कोई परेशानी हो और ना ही देवी-देवताओं को किसी कठिनाई का सामना करना पड़े। राजा सत्यव्रत भी इस सुझाव से बेहद प्रसन्न हुए, किन्तु ना जाने ऋषि विश्वामित्र को एक चिंता ने घेरा हुआ था।

उन्हें यह बात सत्ता रही थी कि धरती और स्वर्गलोक के बीच होने के कारण कहीं हवा के ज़ोर से यह नया स्वर्गलोक डगमगा ना जाए। यदि ऐसा हुआ तो राजा फिर से धरती पर आ गिरेंगे। इसका हल निकालते हुए ऋषि विश्वामित्र ने नए स्वर्गलोक के ठीक नीचे एक खम्बे का निर्माण किया, जिसने उसे सहारा दिया।

Buy Coconut Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

माना जाता है की यही खम्बा समय आने पर एक पेड़ के मोटे तने के रूप में बदल गया और राजा सत्यव्रत का सिर एक फल बन गया। इसी पेड़ के तने को नारियल का पेड़ और राजा के सिर को नारियल कहा जाने लगा। इसीलिए आज के समय में भी नारियल का पेड़ काफी ऊंचाई पर लगता है।

Buy Coconut Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

इस कथा के अनुसार सत्यव्रत को समय आने पर एक ऐसे व्यक्ति की उपाधि दी गई ‘जो ना ही इधर का है और ना ही उधर का। यानी कि एक ऐसा इंसान जो दो धुरों के बीच में लटका हुआ है।

Buy Coconut Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

कोइ भी पूजा बिना नारियल के पूरी नही होती है लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि नारियल को हमेशा पुरुष ही क्यों फोडते हैं? क्यों घर के बुज़ुर्ग या पंडित महिलाओं को नारियल फोडने से मना करते हैं , आइये जानते हैं इस्के पीछे की कहनी ।

Buy Coconut Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

दरअसल एसा माना जाता है कि नारियल एक फल नही है बल्कि बीज है . महिलायें शिशु को जन्म देती हैं, ऐसे मे वोह बीज को नुकसान केसे पहुचा सकती है , इसलिये उन्हें नारियल फोडने से रोका जाता है ।

Buy ready to use nutrient rich soil:

Buy nutrient rich soil | Buy Fertilizers >>

In general use a soil-based compost placed over a generous layer of drainage material such as earthenware crocks, pebbles or gravel. Water and feed regularly, especially while plants are bearing flowers and fruit, when a high-potash fertilizer is recommended.


Buy Decorative Pebbles :

Decorate planters or garden landscapes with these decorative pebbles :

View Details | Buy Decorative Pebbles >>

Using pebbles in a garden brings different colours and textures to the garden. Pebbles can also fill up otherwise empty space in the garden, leaving a visual that might be considered more interesting and aesthetic than simple dirt, soil or mulch.

Buy planters online >>

Add a splash of beauty to balconies, patios, walls, fences & window sills with durable,light weight, Rotomolded planters.