कैसे करें असली रुद्राक्ष की पहचान और जानें रुद्राक्ष के असली फायदे जो आप नहीं जानते

यदि आप किसी मंदिर या मठ से रुद्राक्ष की माला ख्ररीदतें हैं तो आप को किसी ज्योतिषचार्य से जांच कराने कि ज़रुरत नही , आप खुद कर सकतें हैं असली रुद्राक्ष की पहचान ।

Buy Rudrasha Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

आमतौर पर आपने देखा होगा की आजकल किसी भी शहर के बाजार में रुद्राक्ष हर दुकान ,चौराहे पर बिक रहा हैं और कई नामी कम्पनिया भी इसे बेच रही है, परन्तु इसकी पहचान करना बहुत ही कठिन है। एक मुखी व एकाधिक मुखी रुद्राक्ष महंगे होने के कारण नकली भी बाजार में बिक रहेहै। नकली मनुष्य असली के रूप में इन्हे खरीद तो लेता है परन्तु उसका फल नहीमिलता। जिस कारण वह रुद्राक्ष के फायदे से वंचित रह जाता है व जीवन भर उसकी मन में यह धारणा रहती है कि रुद्राक्ष एक बेकार वस्तु है।

असली रुद्राक्ष की पहचान के कुछ तरीके बताए जा रहे हैं जो इस प्रकार हैं.

  • रुद्राक्ष की पहचान के लिए रुद्राक्ष को कुछ घंटे के लिए पानी में उबालें यदि रुद्राक्ष का रंग न निकले या उस पर किसी प्रकार का कोई असर न हो, तो वह असली होगा.

Buy Rudrasha Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

  • रुद्राक्ष को काटने पर यदि उसके भीतर उतने ही घेर दिखाई दें जितने की बाहर हैं तो यह असली रुद्राक्ष होगा. यह परीक्षण सही माना जाता है,किंतु इसका नकारात्मक पहलू यह है कि रुद्राक्ष नष्ट हो जाता है.

  • रुद्राक्ष की पहचान के लिए उसे किसी नुकिली वस्तु द्वारा कुरेदें यदि उसमे से रेशा निकले तो समझें की रुद्राक्ष असली है.

  • दो असली रुद्राक्षों की उपरी सतह यानि के पठार समान नहीं होती किंतु नकली रुद्राक्ष के पठार समान होते हैं.

Buy Rudrasha Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

  • एक अन्य उपाय है कि रुद्राक्ष को पानी में डालें अगर यह डूब जाए, तो असली होगा. यदि नहीं डूबता तो नकली लेकिन यह जांच उपयोगी नहीं मानी जाती है क्योंकि रुद्राक्ष के डूबने या तैरने की क्षमता उसके घनत्व एवं कच्चे या पके होने पर निर्भर करती है और रुद्राक्ष मेटल या किसी अन्य भारी चीज से भी बना रुद्राक्ष भी पानी में डूब जाता है.

Buy Rudrasha Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

  • एक अन्य उपयोग द्वारा रुद्राक्ष के मनके को तांबे के दो सिक्कों के बीच में रखा जाए, तो थोड़ा सा हिल जाता है

  • क्योंकि रुद्राक्ष में चुंबकत्व होता है जिस की वजह से ऐसा होता है.

  • कहा जाता है कि दोनो अंगुठों के नाखूनों के बीच में रुद्राक्ष को रखें यदि वह घुमता है तो असली होगा अन्यथा नकली परंतु यह तरीका भी सही नही है.

Buy Rudrasha Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

  • एकमुखी रुद्राक्ष को ध्यानपूर्वक देखने पर उस पर त्रिशूल या नेत्र के चिन्ह का आभास होता है. रुद्राक्ष के दानों को तेज धूप में काफी समय तक रखने से अगर रुद्राक्ष पर दरार न आए या वह टूटे नहीं तो असली माने जाते हैं.

  • रुद्राक्ष को खरीदने से पहले कुछ मूलभूत बातों का अवश्य ध्यान रखें जैसे की रुद्राक्ष में किडा़ न लगा हो, टूटा-फूटा न हो, पूर्ण गोल न हो, जो रुद्राक्ष छिद्र करते हुए फट जाए इत्यादि रुद्राक्षों को धारण नहीं करना चाहिए .

Buy Rudrasha Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

इन बीजों में एक बहुत ही अनोखी कंपन(unique vibration) है।

किसी व्यक्ति के लिए जो लगातार कदम पर है और जो विभिन्न स्थानों पर खाता और सोता है, रूद्राक्ष एक बहुत अच्छा समर्थन है क्योंकि यह आपकी अपनी ऊर्जा का कोकून(एकत्र) बनाता/करता है । आपने शायद यह ध्यान दिया होगा कि जब आप किसी नए स्थान पर जाते हैं, तो कभी-कभी आप आसानी से सो जाते हैं, जबकि कुछ अन्य जगहों पर आप सो नही पाते हैं भले ही आप शारीरिक रूप से थक गए हों।

Buy Rudrasha Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

इसका कारण यह है, यदि आपके आस-पास के हालात आपकी ऊर्जा के लिए अनुकूल नहीं हैं, तो यह आपको बसने नहीं देगा। साधु और संन्यासी के लिए, जगहें और स्थितियां उन्हें परेशान कर सकती हैं क्योंकि वे लगातार आगे बढ़ते रहते हैं। आज, एक बार फिर, लोग अपने व्यवसाय या पेशे (business or profession)के कारण अलग-अलग जगहों पर खाने और सोने लग रहे हैं, इसलिए रूद्राक्ष सहायक हो सकता है।

Buy Rudrasha Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

एक और बात यह है कि, जंगल में रहने वाले साधु या संन्यासी किसी भी पूल से पानी नहीं पी सकते हैं क्योंकि प्रकृति में कई बार, पानी कुछ गैसों से या जहर से दूषित हो सकता है। अगर वे इसे पीते हैं, तो यह उन्हें अपंग या मर भी सकते था। यदि रूद्राक्ष को जल के ऊपर रखेंगे तो यह दक्षिणावर्त जाएगा तो आप्को पता चल जयेगा कि पानी अच्छा और पीने योग्य है, ()If a rudraksha is held above the water, if the water is good and drinkable, it will go clockwise। अगर यह जहरीला है, तो यह अनियंत्रित हो जाएगा()If it is poisoned, it will go anticlockwise.

Buy Rudrasha Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

यह भोजन की गुणवत्ता की जांच करने का भी एक तरीका है यदि आप इसे किसी भी सकारात्मक प्राण्य पदार्थ से ऊपर रखते हैं, तो यह एक दक्षिणावर्त दिशा में आगे बढ़ेगा। यदि आप इसे किसी भी नकारात्मक प्राण्य पदार्थ पर रख देते हैं, तो यह दक्षिणावर्त दिशा-विरोधी दिशा में आगे बढ़ेगा।

Buy Rudrasha Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

रुद्राक्ष के फायदे

  • असली रुद्राक्ष नेगटिव एनेरजी को दूर रखता है ।

  • इसका काम है कि शुभकामनाएं, स्वास्थ्य, धन, सफलता लाना और बुराइयों को दूर करना ।

  • चार मुखी और छः मुखी रूद्राक्ष को जब तांबे के तार के साथ बांधा जाता है तो मेमोरी बढ़ाने में सहायक होता है।

  • इसमें वात, पित्त और कफ को संतुलित करने की गहराई से क्षमता है। कफ को नियंत्रित करने में पानी के साथ अपना पाउडर लेना फायदेमंद है।

Buy Rudrasha Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

  • यह विद्युत-चुंबकीय(electro-magnetic properties) गुणों के साथ जुड़ा हुआ है, जो रक्तचाप(blood pressure) को नियंत्रित करने में अच्छा है। यह शरीर में गर्मी को विश्राम करने में मदद करता है। 2 मुखी रूद्राक्ष और स्वर्णमिक्क की राख के बराबर अनुपात में पीने से उच्च रक्तचाप कम हो सकता है।

  • यह त्वचा रोगों, घावों, चोटों, त्वचा की जलन और खुजली के उपचार में सहायक है। जब पवित्रता वाला मनका रात भर पानी से भरा तांबे के बर्तन में डाल दिया जाता है, और सुबह में पानी पीता है तो एक खाली पेट त्वचा रोगों के इलाज में फायदेमंद होता है। 9 मुखी रूद्राक्ष और तुलसी के पेस्ट के आवेदन घावों और चोटों के उपचार में प्रभावी हैं।

Buy Rudrasha Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

  • पवित्रा बीज पाउडर और सरसों का मिश्रण शरीर के दर्द का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है। यह जोड़ों पर लगाया जाता है और राहत देता है ।

एक बात :- रुद्राक्ष को शिव के ऑंसू भी इसलिए कहते हैं क्योंकि उसके तने मे गौर से देखने में शिवजी कि ऑखें नज़र आती हैं, जैसे नीचे चित्र मे दिखाया गया है और यही कारण है कि इस पेड़ को शिव जी कि ऑखों से निकले ऑसू से जोड़ा गया है*। धन्यवाद ।

Buy Rudrasha Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers

Buy Rudrasha Plant | Buy Plants | Buy Pots | Buy Fertilizers | Buy seeds | Offers


Buy ready to use nutrient rich soil:

Buy nutrient rich soil | Buy Fertilizers >>

In general use a soil-based compost placed over a generous layer of drainage material such as earthenware crocks, pebbles or gravel. Water and feed regularly, especially while plants are bearing flowers and fruit, when a high-potash fertilizer is recommended.


Buy Decorative Pebbles :

Decorate planters or garden landscapes with these decorative pebbles :

View Details | Buy Decorative Pebbles >>

Using pebbles in a garden brings different colours and textures to the garden. Pebbles can also fill up otherwise empty space in the garden, leaving a visual that might be considered more interesting and aesthetic than simple dirt, soil or mulch.

Buy planters online >>

Add a splash of beauty to balconies, patios, walls, fences & window sills with durable,light weight, Rotomolded planters.